चौलाई साग और मूंग दाल (Chaulai Sag with Moong Dal – Amaranth Leaves Lentil Curry).

चौलाई साग और मूंग दाल (Chaulai Sag with Moong Dal – Amaranth Leaves Lentil Curry).


हरे पत्ते की सब्जी स्वास्थ्य के लिये बहुत ही लाभ कारी होती हैं. चौलाई यानी कि Amaranth जिसका अर्थ ही होता है लम्बी आयु देने वाला. इन हरे पत्ते की सब्जियों को यदि रोजाना के खाने के साथ प्रयोग किया जाय तो शरीर में होने वाले विटामिन्स की कमी को काफी हद तक पूरा किया जा सकता है.

  • Read this recipe in English -

चौलाई को Amaranth, Red Spinach, Lal sag, Rajgira saag, Chuamarsa, Ganhar, Kalgaghasa या Thotakura भी कहा जाता है. इसे  हम अनेकों प्रकार से बनाते हैं जैसे चौलाई के पत्तों में दाल मिला कर साग बनाते हैं, चौलाई को आलू के साथ मिला कर चौलाई आलू भुजिया बनाते हैं, चौलाई को बैंगन में मिला कर चौलाई बैंगन भाजी बनाते हैं.

आप अपने स्वाद के हिसाब से इसे अन्य मनचाही सब्जियों में मिलाकर बना सकते हैं.  चौलाई के पत्ते को मूंग के दाल के साथ मिला कर बहुत ही स्वादिष्ट सब्जी बनायी जाती है.  कुछ घरों में मूंग दाल की जगह उरद (Tur Dal) को मिलाकर भी बनाते हैं.

प्रस्तुत हैं चौलाई साग और मूंग दाल (Chaulai Sag with Moong Dal - Amaranth Leaves Lentil Curry).

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Chaulai Sag with Moong Dal

  • चौलाई Amaranth Leaves - 250 ग्राम
  • मूंग की दाल - 100 ग्राम (आधा कप)
  • नमक - स्वादानुसार (1 छोटी चम्मच)
  • टमाटर - 2
  • हरी मिर्च -1- 2
  • अदरक - 1 इंच लम्बा टुकड़ा
  • घी - 1 - 2 टेबल स्पून
  • हींग- 1-2 पिंच
  • जीरा- आधा छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर - 1/4 - 1/2 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - एक चौथाई छोटी चम्मच से कम
  • हरा धनियां - 1 टेबल स्पून

चौलाई की सब्जी से मोटी डंडिया तोड़ कर हटा दीजिये, घास इत्यादि बीन कर साफ कर लीजिये.  पत्तों को 2-3 बार साफ पानी से धो लीजिये. धुली हुई पत्तिया चलनी में रखिये ताकि उनका अतिरिक्त पानी निकल जाय. पत्तियों को बारीक काट लीजिये.
मूंग की दाल को साफ पानी से धोकर, 15-20 मिनिट भिगो लीजिये.  दाल और चौलाई को कुकर में डालिये, और 3 कप पानी, नमक डाल कर मिला दीजिये. कुकर बन्द करके, दाल और चौलाई को एक सीटी आने तक पकाइये.

अगर आप अधिक मसाले नहीं खाना चाहते तो यह दाल हींग, जीरे का तड़का लगाकर भी बनाई जा सकती है, और आप चाहैं तो इस तरह भी बना सकते हैं.

टमाटर, हरी मिर्च और अदरक को बारीक पीस लीजिये.  एक कढ़ाई मे घी डाल कर गरम कीजिये, घी में हींग और जीरा डालिये, जीरा कड़कने के बाद, हल्दी पाउडर और टमाटर, हरी मिर्च का पेस्ट डाल कर मसाले को जब तक भूनिये तब तक मसाला दाने दार या मसाले के ऊपर घी तैरता न दिखाई देने लग जाय, लाल मिर्च पाउडर डाल कर मिला दीजिये. कुकर खोलिये और देखिये कि दाल कितनी पतली या गाड़ी रखनी है उसके अनुसार पानी और यह भुना हुआ मसाला दाल में डालिये, दाल को टेस्ट करके नमक भी एडजैस्ट कर लीजिये, हरा धनियां भी मिला दीजिये.

चौलाई मूंगदाल तैयार है, दाल को प्याले में निकालिये.  गरमा गरम चौलाई की दाल चपाती, नान और चावल के साथ परोसिये और खाइये.

आप चौलाई की दाल में टमाटर, अदरक का पिसा मसाला न डाल कर, हींग जीरे का तड़का लगा सकते हैं दाल तब भी बड़ी स्वादिष्ट बनती है.

चौलाई बेसन करी (Chaulai besan curry)

आप मूंग दाल की जगह बेसन (Gram Flour) मिला कर भी चौलाई बना सकते हैं

कटी हुई चौलाई, कढ़ाई में 1 टेबल स्पून तेल डाल कर गरम कीजिये, हींग और जीरा डाल कर तड़काइये, हल्दी डाल कर मिलाइये, अदरक, हरीमिर्च टमाटर का पेस्ट बनाइये मसाले मे डालिये, भूनिये, चौलाई के पत्ते डालकर ढककर 3-4 मिनिट पकाइये, 2 टेबल स्पून बेसन आधा कप पानी में घोलिये, बेसन में गुठली न पड़े. 2 गिलास पानी और घुला हुआ बेसन मिलाइये, उबाल आने तक चमचे से लगातार चलाते रहिये. सब्जी को धीमी गैस पर 8-10 मिनिट तक पकाइये. बेसन की चौलाई तैयार है.

बेसन की चौलाई को प्याले में निकालिये, हरा धनियां डालिये और गरमा गरम बेसन की चौलाई चपाती नान या चावल किसी के साथ परोसिये और खाइये.

इन सभी तरीके से बनाई गई सब्जियों में प्याज और लहसुन का तड़का भी लगाया जा सकता है.



और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम