हर जगह स्वयं को सर्वश्रेष्ठ (सुपरमैन) समझना

हाँ यह अच्छा लगता है जब सहायता करने के लिए कोई पुरुष पास हो। हालाँकि उनकी (मैं सब कुछ कर सकता हूँ) प्रवृत्ति से परेशानी ज्यादा होती है और फायदा कम होता है विशेषत: तब जब वे एक प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, कारपेंटर और वित्तीय सलाहकार सब कुछ बनने का प्रयत्न करते हैं।