केतु – ग्रह पीड़ा निवारक टोटका


१॰ भिखारी को दो रंग का कम्बल दान देना चाहिए।

२॰ नारियल में मेवा भरकर भूमि में दबाना चाहिए।

३॰ बकरी को हरा चारा खिलाना चाहिए।

४॰ ऊँचाई से गिरते हुए जल में स्नान करना चाहिए।

५॰ घर में दो रंग का पत्थर लगवाना चाहिए।

६॰ चारपाई के नीचे कोई भारी पत्थर रखना चाहिए।

७॰ किसी पवित्र नदी या सरोवर का जल अपने घर में लाकर रखना चाहिए।

केतु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों हेतु मंगलवार का दिन, केतु के नक्षत्र (अश्विनी, मघा तथा मूल) तथा मंगल की होरा में अधिक शुभ होते हैं।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम