फ्लैट बैली डायट : यह कैसे काम करती है


फ्लैट बैली डायट किताब में वर्णित आहार योजना के अनुसार आपको रोजाना 1600 कैलोरी का उपभोग करना चाहिए और आपके हर आहार में मुफा प्रचुर मात्रा में होना चाहिए। हर चार घंटे में भोजन और नियमित व्‍यायाम (हालांकि व्‍यायाम जरूरी नहीं है) आखिरकार आपको अपना वजन कम करने में काफी मदद करेगा।

विशेषज्ञों के अनुसार फ्लेट बैली डायट से आपका वजन मुफा के कारण नहीं होता, बल्कि यह आपके पूरे शरीर के वजन कम होने का हिस्‍सा है। जब कभी भी आपका वजन कम होता है, तो आप शरीर के मध्‍यम हिस्‍से से वजन कम करते हैं, भले ही आप किसी भी आहार योजना का पालन कर रहे हों। इस प्रकार की आहार योजना उन लोगों के लिए काफी फायदेमंद है, जो अपने भोजन को लेकर अन‍ियमित होते हैं और अक्‍सर अपना भोजन समय पर नहीं खाते। इनमें नाश्‍ता न करने वाले लोग भी शामिल होते हैं।

जानकार यह भी मानते हैं कि वजन कम करना बहुत जरूरी है। अतिरिक्‍त चर्बी आपको हृदय रोग होने का खतरा काफी अधिक होता है। न केवल पेट पर जमा चर्बी, बल्कि शरीर में कहीं भी जमा अतिरिक्‍त चर्बी आपको गंभीर रोग दे सकती है। कई जानकार यह नहीं मानते कि मुफा आपको वजन कम करने में मदद करता है। उनके अनुसार, 'फ्लैट बेली डायट' का अनुसरण करने वाले लोगों के पेट से चर्बी उनके पूरे शरीर से कम हो रही वसा का ही हिस्‍सा होता है।

लिज वेकेरिलो और सिंथिया सास की लिखी इस किताब की कई सलाह पर जानकार सवाल उठाते हैं। उनकी नजर में जंप स्‍टार्ट प्‍लान का संबंध तनाव, च्‍युंइगम चबाना, भारी-भरकम कच्‍चे आहार का सेवन और मुफा से वजन कम होना जैसी बातें सवालों के घेरे में हैं। इस किताब में दी गयीं कई सलाह के पीछे कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। हालांकि, अपने आहार में पौष्टिक तत्‍वों को शामिल करने की बात कहना जरूर व्‍यावहारिक लगता है।

आहार योजना में शामिल कई खाद्य पदार्थ उच्‍च कैलोरी युक्‍त हैं, तो इसलिए आपको इस बात का खयाल रखना जरूरी है कि आप कितना खा रहे हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आपको इस बात का अंदाजा ही न रहे कि आप आवश्‍यकता से अधिक कैलोरी का सेवन कर रहे हैं।


और पढ़ें

































2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम