प्रातःकालीन भ्रमण

प्रातःकाल सैर अवश्य करनी चाहिए।
सुबह-सुबह ओस से भीगी घास पर नंगे पैर चलना आँखों के लिए विशेष लाभदायी है।
जो लोग किसी भी प्रकार की कोई कसरत नही कर सकते, उनके लिए टहलने की कसरत बहुत जरूरी है।
टहलना कसरत की सर्वोत्तम पद्धति मानी गयी है क्योंकि कसरत की अन्य पद्धतियों की अपेक्षा टहलने से हृदय पर कम जोर पड़ता है तथा शरीर के एक-दो नहीं बल्कि सभी अंग अत्यंत सरल और स्वाभाविक तरीके से सशक्त हो जाते हैं।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम