ग्रह अनुसार देवी देवता का ज्ञान




सूर्य-राम व विष्णु

चन्द्र-शिव, पार्वती, कृष्ण

मंगल-हनुमान, कार्तिकेय, स्कन्द, नरसिंग

बुध-गणेश, दुर्गा, भगवान् बुद्ध

वृहस्पति-विष्णु, ब्रह्मा, वामन

शुक्र-परशुराम, लक्ष्मी

शनि-भैरव, यम, कुर्म, हनुमान

राहु-सरस्वती, शेषनाग

केतु-गणेश व मत्स्य

इस प्रकार अपने इष्ट देव का चयन करने के उपरांत किसी भी जातक को उनकी पूजा अराधना करनी चाहिए तथा उसके बाद भी आपको धर्मीं कार्य, अनुष्ठान, जाप, दान आदि निरंतर करते रहना चाहिए। आप इन्हें किसी भी परिस्थिति में ना त्यागें। अपने इष्ट देव का निर्धारण कर यदि आप नियमित पूजा अराधना करते हैं तो आपको आपने पूर्वजन्म कृत पापों से मुक्ति मिलने में सहायता हो जाती है।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम