परिचय


कहते हैं हमारे सपनों का हमारे वास्तविक जीवन से कुछ ना कुछ लेना-देना जरूर होता है. आंखें बंद करते ही एक तस्वीर आए दिन हमारी आंखों के सामने नजर आती है. एक सिनेमा की भांति वह सब हमारे सामने चल रहा होता है जिसे न तो हमने कभी वास्तविक जीवन में देखा होता है और ना ही कभी इनके बारे में कुछ भी सुना होता है. लेकिन वैज्ञानिकों की मानें तो सपने हमारे अचेतन मस्तिष्क का उत्पाद हैं. हम दिनभर जो देखते, सोचते और जीवन में जो भी करना चाहते हैं वही जस का तस बंद आंखों में हमारे सामने घूमता है और अगर इन्हें किसी तरह की अलौकिक क्रियाओं से जोड़ा जाता है तो यह नासमझी ही होगी.

लेकिन उन सपनों का क्या जिन्हें देखने के बाद हम पूरी रात सिहरन में ही गुजारते हैं, भय और खौफनाक तस्वीरें देखकर हम पसीने-पसीने हो जाते हैं? अगर आप भी उन्हीं लोगों में से हैं जिनके सपनों में भूत-प्रेत या शैतानी आत्माएं आती हैं और आप इनका अपने सपनों में आने का कारण नहीं समझ पा रहे हैं तो हम आपको बताते हैं कि आखिर यह क्यों आपके सपनों का हिस्सा बन आपको डरा रही हैं. इनका आपकी दिनचर्या का हिस्सा बनने के बाद आपको किन परिणामों का सामना करना पड़ सकता है?


और पढ़ें













2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम