सामाजिक यश (सुख) का मन्त्र


मन्त्रः-
“सुनि समुझहिं जन मुदित,
मन मज्जहिं अति अनुराग ।

लहहीं चारि फल अछथ,
तनु साधु समाज प्रयाग ।।”

मन्त्र की प्रयोग विधि और लाभः-

प्रतिदिन स्फटिक की माला पर १००० मन्त्रों का जप करें । इस क्रिया को ९० दिन तक करें और ९१वें दिन कोढ़ियों को खिचड़ी खिलायें ।

इस मन्त्र के प्रयोग से देह का सुख, साधुओं की कृपा, समाज का सहयोग तथा प्रयाग स्नान का फल प्राप्त होता है ।


और पढ़ें













2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम