यह रेखा बता देती है क्या-क्या सोचते हैं आप


आपके हाथों की मस्तिष्क रेखा बताती है कि आपका दिमाग कितना तेज है, आपका थिंकिंग लेवल क्या है?

मस्तिष्क रेखा किसी-किसी के हाथ में तर्जनी अर्थात् इंडेक्स फिंगर के नीचे गुरु पर्वत से प्रारंभ होती है तो किसी के हाथ में जीवन रेखा के साथ आरंभ होती है। किसी-किसी के हाथों में जीवन रेखा के अंदर से प्रारंभ होती है।



- यदि मस्तिष्क रेखा और जीवन रेखा में मध्य अंतर अधिक हो तो व्यक्ति दु:साहसी, अहंकारी, बुरे गुणों वाला होता है।

- यदि मस्तिष्क रेखा गुरु पर्वत से प्रारंभ होकर जीवन रेखा को टच करते हुए निकलती है तो वह सबसे श्रेष्ठ मानी है। ऐसी मस्तिष्क रेखा वाला व्यक्ति महत्वकांशी, तेज दिमाग, मेहनती, उत्साही, अपने निश्चय का पक्का होता है।

- यदि मस्तिष्क रेखा जीवन रेखा के अंदर से अंगूठे के थोड़ी पास से प्रारंभ हो तो वह व्यक्ति चिड़चिड़े स्वभाव का, अस्थिर दिमाग वाला, हमेशा चिंतित रहने वाला है।

- यदि मस्तिष्क रेखा जगह-जगह से टूटी हो, कई गहरी रेखाएं उसे काटती हो तो ऐसा व्यक्ति पागलपन का शिकार हो सकता है। टूटी मस्तिष्क रेखा असमय मृत्यु की ओर भी इशारा करती है।

- यदि मस्तिष्क रेखा एकदम सीधी हो तो व्यक्ति अति बुद्धिमान होता है।

- यदि मस्तिष्क रेखा और जीवन रेखा प्रारंभ से जुड़ी हो तो व्यक्ति सावधान, भावुक, समझदार और अच्छे मन का होता है।

- यदि मस्तिष्क रेखा हथेली के नीचे की ओर ढलान लिए हो तो वह व्यक्ति कल्पनाशील होता है।

- यदि मस्तिष्क रेखा सीधी और हथेली के एक छोर से दूसरी छोर तक जाती हो तो व्यक्ति अति बुद्धिमान होता है।

- यदि मस्तिस्क रेखा ज्यादा छोटी हो तो वह व्यक्ति अल्पायु होता है और उसकी मृत्यु मानसिक रोग से हो सकती है।

- यदि मस्तिष्क रेखा पर द्वीप हो तो व्यक्ति की मानसिक स्थिति ठीक नहीं रहती।




और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम