हस्तरेखा - हाथ की बनावट (Hastrekha - Shape of Hands)


हथेली का आकार प्रथम आधार या सूत्र होता है जो व्यक्ति के समग्र चरित्र का विश्लेषण करने में सहायक होता है. एक हस्तरेखा विशेषज्ञ हाथ की उँगलियाँ, हथेली की त्वचा के रंग के आकृति और आकार आदि द्वारा हाथ की विभिन्न विशेषताओं का विश्लेषण कर सकता है. सभी विषेषताओं के बावजूद वर्तमान में हस्तरेखाविद् निम्नलिखित वर्गीकरण करते हैं.
  • चौकोर हाथ | Square Hand - एक चौकोर हाथ बड़ी हथेली और लंबी सखत उंगलियों को दर्शाता है.ऐसे व्यक्ति प्रभावशाली, व्यावहारिक, तथा एकाधिकार वाले होते हैं, और निश्चित रूप से सफलता प्राप्त करने में सक्षम होते हैं.
  • पतला हाथ | Narrow Hand - पतला हाथ आयताकार रूप लिए होता है. इसकी हथेली आयताकार और उंगलियां लंबी-पतली होती हैं. जो व्यक्ति के रचनात्मक एवं कलात्मक स्वरूप को व्यक्त करती है.  ऐसा व्यक्ति समझदार और उत्साही होता है.
  • चपटा हाथ | Flat Hand - चपटा हाथ या कुदाल की तरह का होता है यह हाथ एक व्यापक हथेली और लंबी चपटी उंगलियों को दर्शाता है. ऐसा व्यक्ति बेचैन, ऊर्जावान, और गतिशील होता है.
  • नुकीला हाथ | Pointed Hand - यह हाथ लंबे, अंडाकार हथेली और लंबी और पतली उंगलियों को दर्शाता है. जो व्यक्ति को एक आदर्शवादी और एक संवेदनशील प्रेमी के रूप में परिभाषित करती हैं.
  • गांठदार हाथ | Knotty Hand - गांठदार हाथ लंबे, पतले और गांठादार उंगलियों द्वारा व्यक्त होता है. ऐसा व्यक्ति  विचारक या एक दार्शनिक होता है.
कई लोगों के हाथ के आकार के संयुक्त मिश्रित विशेषताओं को अभिव्यक्त करते हैं. मिश्रित विशेषताएँ उदारवादी व्यक्तित्व का प्रतिनिधित्व करती हैं. एक अच्छे हस्तरेखाविद् को निष्कर्ष पर पहुँचने से पहले एक हाथ के सभी लक्षण का अध्ययन करना चाहिए. हालांकि, भविष्यवाणी हस्तरेखा शास्त्री के गहन अध्ययन द्वारा हो पाती जो उसके हस्त रेखा अध्ययन पर निर्भर करता है.



और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम