आपकी हथेली का रंग और आपका भविष्य


हस्तरेखा विज्ञान में जहां रेखाओं और चिन्हों के साथ हाथ व नाखून के प्रकार महत्वपूर्ण होते हैं वहीं हथेलियों के रंगों की भी भविष्य कथन में बड़ी भूमिका होती है।



ग्रथों में स्पष्ट वर्णन है...


'धनी पाणितले रक्ते नीले मद्यं पिवेन्नरः।
आग्रायागमनः पीते कहमले धनवर्जितः।'

अर्थात् समृद्ध व धनी व्यक्ति की हथेली का रंग 'रक्त वर्ण'यानी लाल होता है। नीले रंग की हथेली वाले मद्य प्रेमी यानी शराबी होते हैं। कहमले यानि मटमैले रंग की हथेली वाले लोग सामान्यतः धनहीन होते हैं।

हस्त संजीवन नामक ग्रंथ में भी लाल रंग की हथेली को सर्वश्रेष्ठ माना गया है।
'करतलैर्देव शार्दूल लक्ष्माभैरीश्वराः स्मृताः।
अगम्यागामीनः पीतैरक्षैनिर्धनता स्मृताः।

अपेयपानं कुर्वन्ति नील कृष्णैस्तभैव च।'
अर्थात् हथेली का रंग लाल होना व्यक्ति के ऐश्वर्यशाली होने का प्रतीक है। चमकीला व चिकना हस्त धनी होने का संकेत है। आभाहीन व शुष्क हस्त दरिद्रता का कारक है। नीला व काला हाथ शराबी तथा पीत हस्त व्यभिचारी होने के लक्षण हैं।

हथेली का रंग व उसके प्रकार
लाल रंगः इस रंग की हथेली वाले लोग जीवन में समस्त ऐश्वर्य को भोगते हैं। इन्हें नाना प्रकार के सुख और आनंद प्राप्त होते हैं। ये लोग प्रचुर धन के स्वामी होते हैं। स्वभाव से ये भावुक और क्रोधी होते हैं। ये लोग वैचारिक रूप से अस्थिर होते हैं।

गहरा गुलाबीः इस तरह की हथेली वाले सामान्यतः धनी होते हैं। ये लोग क्रोधी व तुनक मिजाज भी होते हैं। इनकी बुद्धि स्थिर नहीं होती। ये जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और जल्दी नाराज भी हो जाते हैं। इनके विचार, सोच, पसंद, नापसंद सब कुछ परिवर्तनशील होते हैं। इन्हें मध्य आयु तक हाई ब्लड प्रेशर की समस्या घेर लेती है।

हल्का गुलाबीः ये लोग उत्तम मानवीय गुणों से संपन्न, धनी व ऐश्वर्यशाली होते हैं। इनके अंदर गजब का उत्साह पाया जाता है। धैर्य इनमें कूट-कूट कर भरा होता है। दया, क्षमा और प्रेम इनके स्वभाव का मूल आधार है। ये लोग आशावादी व प्रसन्नचित्त होते हैं। ये लोग कला एवं प्रकृति प्रेमी होते हैं।

पीलाः ये लोग दृढ़ विचारों वाले नहीं होते। मानसिक रूप से परेशान व निराशावादी होते हैं। स्वभाव में मधुरता की कमी होती है। इन्हें पैरों के रोगों से कष्ट प्राप्त होता है। आलस्य के कारण प्रगति नहीं कर पाते। इनके जीवन में संघर्ष होता है।

बैगनी या नीलाः नीले या बैगनी रंग की हथेली वाले निराशावादी होते हैं। इनके जीवन में संघर्ष की अधिकता होती है। ये लोग एकान्त वाली होते हैं। इन्हें रक्त विकार से कष्ट प्राप्त होता है। मद्यपान सहित अन्य व्यसनों की ओर लगाव होने कार्यक्षमता व प्रतिभा नष्ट होने लगती है। ये लोग समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी से दूर रहते हैं। स्वभाव से ये लोग रूखे व चिड़चिड़े होते हैं।

मटमैला रंगः काले, भूरे या मटमैले रंग की हथेली वाले लोग कर्मठ नहीं होते। ये लोग बेहद रहस्यवादी होते हैं। बातचीत में असत्य तथ्यों का सहारा लेते हैं। पुरुषार्थ की कमी होती है। इनका व्यक्तित्व निस्तेज होता है। स्वास्थ्य की समस्याओं से घिरे रहते हैं ये लोग। इनके चेहरे पर उदासी का भआव होता है। धन की कमी बनी रहती है। इन्हें रक्त व कफ संबंधी समस्याएं प्राप्त होती हैं।

निस्तेज सफेदः सफेद हथेली के लोग उत्साहहीन व एकांत प्रिय होते हैं। मानसिक शक्ति की कमी होती है। ये लोग बहुत कर्मठ नहीं होते।

चमकदार सफेदः चमत्कारी श्वेत हथेली वाले लोग अलौकिक शक्तियों के स्वामी होते हैं। इन्हें पराशक्ति का ज्ञान होता है। विचारों से ये बेहद संतुलित होते हैं। इनकी विचारधारा आध्यात्मिक होती है। ये लोग शांति के दूत होते हैं। ये लोग स्वस्थ रहते हैं।

हथेली के रंगों का परीक्षण करने से पहले हाथ का स्पर्श नहीं करना चाहिए अन्यथा हाथ के घर्षण से, स्पर्श से, व्यायाम से, कठिन श्रम से हथेली का रंग क्षणिक रूप से बदल जाता है। इससे भविष्य कथन में व्यवधान उत्पन्न होता है या भविष्यकथन प्रभावित हो सकता है। अतः जब व्यक्ति स्वस्थ हो, आराम से बैठा हो, तनाव में न हो तभी रंगों का परीक्षण सत्य भविष्य का संकेत दे सकेगा।





और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम