व्यायाम से जुड़े मिथ और हकीकत


फिल्मों में अपने पसदीदा कलाकारों को जिम में पसीना बहाते देखकर आप भी एक्सरसाइज करने के लिए प्रेरित होते हैं। मगर कुछ बातों का ध्यान नहीं रखने से आपकी सेहत पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। जानिए एक्सरसाइज से जुड़े कुछ मिथ और हकीकत के बारे में -
मिथ : एक्सरसाइज खाली पेट करनी चाहिए।
हकीकत : फिटनेस विशेषज्ञों के मुताबिक खाली पेट एक्सरसाइज करने से बेवजह थकान होती है। यही नहीं एक्सरसाइज करने की क्षमता भी कम होने लगती है। पेट भर भोजन करने के बाद भी एक्सरसाइज करना ठीक नहीं है। इसलिए व्यायाम करने से पहले जूस, फल, चाय के साथ एक-दो बिस्कुट या अंकुरित अनाज लेना बेहतर होगा।
मिथ : फिट रहने के लिए जिम जाना है जरूरी।
हकीकत : यह धारणा बिल्कुल गलत है कि जिम जाकर ही फिट रहा जा सकता है। साइक्लिग, डासिग, स्विमिग और जॉगिग जैसी एक्सरसाइज भी उतनी ही फायदेमद होती हैं।
मिथ : भारी वजन उठाने वाली एक्सरसाइज से महिलाओं का शरीर पुरुषों जैसा होने लगता है।
हकीकत : इस एक्सरसाइज से मासपेशिया मजबूत होती हैं और शरीर फिट रहता है, न कि महिलाओं का शरीर पुरुषों जैसा बनता है।
मिथ : ज्यादा देर तक एक्सरसाइज करने से मिलती है अधिक फिटनेस।
हकीकत : जिम में जरूरत से ज्यादा पसीना बहाने से आपका वजन कम होगा, लेकिन आपको अंदरूनी चोट भी लग सकती है। मासपेशियों को आराम मिलना भी जरूरी है।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम