बच्चों के यकृत दोष


परिचय :

बच्चों के खाने-पीने पर ध्यान नहीं देने से यकृत (जिगर) में खराबी आने से प्रदाह (जलन), शोथ (सूजन) आदि आ जाते हैं।

बच्चों के यकृत दोष का उपचार:

अजवायन:
  • अजवायन को पानी में पीसकर कालानमक डालकर रखें। एक चम्मच बच्चों को देने से यकृत (लीवर) के अनेक रोग सही हो जाते हैं।
  • शराब के साथ खुरासानी अजवायन को पीसकर यकृत (जिगर) की जगह पर ऊपर से लेप करने से यकृत का दर्द और सूजन मिट जाती है।

पपीता:

पपीता और सेब खाने से बच्चों के यकृतदोष (जिगर खराब होने पर) के रोग ठीक हो जाते हैं।

तारपीन:

यकृत (जिगर) की जगह पर दर्द होने पर तारपीन के तेल से मालिश करके गर्म कपड़े से सिंकाई करने से बच्चों की यकृत की बीमारी ठीक हो जाती है।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम