सर्दियों में 11 रोगों के लिए 11 उपाय


सर्दियां आते ही कई नई बीमारियां पनपने लगतीं हैं। बुजुर्गों के लिए तो सर्दियों के दिन गुजारना बड़ा मुश्किल होता है। ऐसे में ये छोटे छोटे उपचार आपको बड़ी बड़ी परेशानियों से बचा सकते हैं।

पाचन दोष के रोगियों को ठंड से कब्ज बढ़ जाने का खतरा रहता है। उन्हें ठंड में पानी खूब पीना चाहिए।

सर्दी में सिर दर्द की शिकायत रहती है, दूध में जायफल घिसकर माथे पर लेप करें, आराम मिलेगा।

सर्दी में अक्सर होंठ फटते हैं। कोकम का तेल लगाने से आराम मिलेगा।

बिवाइयां फट जाने पर प्याज का पेस्ट लगाने से आराम मिलेगा।

सर्दियों में प्रायः छाती में बलगम जमा हो जाता है, अंजीर का सेवन करने से बलगम निकलेगा तथा खांसी में राहत मिलेगी।

भोजन के पश्चात जीरा पावडर खाएं पाचन क्रिया ठीक रहेगी।

आजवाइन के चूर्ण का आधा चम्मच दिन में तीन बार खाने से ठंड से आया बुखार उतर जाता है।

आजवाइन के चूर्ण का आधा चम्मच दिन में तीन बार खाने से ठंड से आया बुखार उतर जाता है।

कफ जमा हो जाने से व दमा बढ़ने पर आजवायन छोटी पीपर, पोस्त दाना का काढ़ा बनाकर पीने से शीघ्र आराम मिलता है।

ठंड के मौसम में अक्सर जोड़ों के दर्द की शिकायत रहती है, धतुरे के पत्तों पर तेल लगाकर गर्म करके दर्द वाले स्थान पर बाँध देने से आराम मिलता है।

र्दियों में सरसों के तेल में 3-4 लहसुन की कली डालकर पका लें और ठंडा होने पर इसमें मालिश करें तो बदन दर्द में आराम मिलता है।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम