साइनसाइटिस होने के कारण


सिर से लेकर कपाल तक छोटे-छोटे खाली जगह (pockets) होते हैं जिसमें ठंड लग जाने के कारण हवा भर जाती है। यह पॉकेट्स नाक, कान, भौंह(eyebrows), आँख, गाल, जबड़ा के चारों तरफ भी होता है। यह पॉकेट्स टीशू से भरे होते हैं। इनमें हवा भर जाने के कारण ठंड के वायरस इनको प्रभावित करते हैं और जिसके कारण कफ़ की सृष्टि होने लगती है । कफ के सृष्टि के कारण नाक बंद हो जाता है और नसे सूज जाती हैं जिसके कारण साइनसाइटिस का दर्द सर से शुरू होकर कान, आँखों के नीचे गाल से लेकर जबड़ा और गर्दन तक फैल जाता है। पढ़े- कोल्ड और कफ़ से घर बैठे निजात पाएं

और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम