मानसून में एलर्जी से बचने के चमत्कारी नुस्‍खे


मानसून के मौसम में एलर्जी होना आम बात है। लेकिन, कुछ चमत्कारी उपाय आजमाकर आप इन परेशानियों से बचे रह सकते हैं। यह चमत्कारी उपाय आपको एलर्जी से दूर रखने में मदद करते हैं।

मानसून में बारिश का मजा सभी लेते हैं लेकिन अगर इस मौसम में आप अपने स्वास्‍थ्‍य को लेकर हल्की सी भी असावधानी बरतते हैं तो बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। इस मौसम में गंदे पानी के संपर्क में आने से त्वचा की एलर्जी हो सकती है। एलर्जी का सबसे बडा कारण पर्यावरण में एलर्जी फैलाने वाले एलर्गन तत्वों के संपर्क में आने से होता है। आमतौर पर जुकाम, खांसी, नाक से पानी निकलना, आंखें लाल हो जाना और टांसिल जैसी बीमारियां होना शुरू हो जाती हैं। आइए हम इस मानसून में आपको एलर्जी से बचने के कुछ नुस्खों के बारे में जानकारी देते हैं।

मानसून में एलर्जी से बचने के उपाय

मानसून में चारों ओर मौजूद एलर्जन(ऐसे लोग जो एलर्जी के शिकार हैं) से बचना ही एलर्जी का सबसे अच्छा इलाज है।

सुबह सैर के लिए जाते समय नाक और कान किसी साफ कपड़े से अवश्य ढंक लीजिए।

घर में बत्ती वाले स्टोव की जगह एलपीजी या इलेक्ट्रिक स्टोव का उपयोग कीजिए।

घर को हमेशा बंद मत रखिए, घर को खुला और हवादार बनाए रखिए जिससे कि घर में शुद्ध हवा हमेशा आती रहे।

खिडकियों में पतली जाली लगवाइए और जाली वाली खिडकियों को हमेशा बंद रखिए। क्योंकि खुली खिडकी से कीडे और मच्छर आपके कमरे में घुस सकते हैं।

बिस्तर के कपड़ों में एलर्जी फैलाने वाले तत्व काफी अधिक होते हैं। बिस्तर की सफाई पर विशेष ध्यान रखिए।

एलर्जी के कारक का पता लगाने के लिए टेस्ट करा लें। उसी अनुरूप इलाज कराएँ।

दीवारों पर फफूंद और जाले हो गए हों, तो उन्हें साफ करते रहें। क्योंकि फफूंद के कारण भी एलर्जी हो सकती है।

बारिश के मौसम में फूल देने वाले प्लांट्स को घर के अदंर मत रखिए।

बारिश के मौसम में खुश होकर अधिक तेलयुक्त‍ खाने से परहेज कीजिए। क्योंकि अधिक तैलीय खाने से आपका गला और पेट खराब हो सकता है।

खट्टी या बाहर की वस्तुएं जैसे – इमली, आइसक्रीम, चिप्स मत खाइए। ठंडे पेय पदार्थ मत पीजिए।

इस मौसम में पानी भी खूब मात्रा में पीना चाहिए।

व्यायाम कीजिए, लेकिन ज्यादा थकान देने वाले व्या‍याम करने से परहेज कीजिए।
इस मौसम में दूध और जूस पीने की आदत डालिए।

सलाद और कच्ची सब्जियां कम खाएं।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम