छोटी सी इलायची लड़ सकती है कई बड़ी और खतरनाक बीमारियों से


इलायची स्‍वास्‍थ के लिहाज से अच्‍छी मानी जाती है, हालांकि इसका सेवन आमतौर पर मसाले के रूप में किया जाता है। लेकिन इसका प्रयोग करके कई बीमारियों से निजात मिल सकती है। इलायची दो प्रकार की होती है - छोटी इलायची तथा बड़ी इलायची।

इलायची को मसालों की महारानी कहा जाता है। तीव्र सुगन्ध और स्वाद की वजह से इसका इस्तेमाल विभिन्न व्यंजनों में होता है। एरोमाथेरेपी में भी इलायची के तेल का प्रयोग किया जाता है। जहां बड़ी इलायची को हम व्यंजनों को लजीज बनाने के लिए एक मसाले के रूप में प्रयोग करते हैं, वहीं पर छोटी इलायची व्‍यंजनों में खुशबू बढ़ाने के काम आती है। दोनों ही प्रकार की इलायची हमारे स्‍वास्‍थ्‍य पर प्रभाव डालती हैं। आइए जानते हैं इनके फायदों के बारे में।

इलायची के फायदे

इलायची गैस में राहत पहुंचाती है और साथ ही साथ कलेजे की जलन को भी कम करती है।

इलायची का पेस्ट बनाकर माथे पर लगाएं। इससे सिरदर्द में तुरंत आराम मिलेगा।

धूप में जाते समय मुंह में इलायची डालें। यह लू के थपेड़ों से बचाती है और लू नही लगती।

मुंह से दुर्गन्ध आने पर इलायची का प्रयोग करें, इससे मुंह की दुर्गंध खत्‍म हो जायेगी।

यात्रा के दौरान भी इलायची फायदेमंद है, सफर में मुंह में इलायची रखें, उल्टी नहीं आएगी।

सांस लेने में तकलीफ हो तो, मुंह में एक इलायची डालें, इससे आराम मिलेगा।

अस्थमा और कफ के रोगी इलायची के पाउडर को शहद के साथ चाटें, इससे फायदा मिलेगा।

पेट में ऐंठन के साथ दर्द हो तो इलायची खाएं। इससे आप अच्‍दा महसूस करेंगे।

यदि दांतों और मसूड़ों में सड़न हो तो इलायची का इस्‍तेमाल करें, यह दांतों और मसूड़ों में सड़न को रोकती है।

पेशाब में जलन होने पर, इलायची को आंवला, दही और शहद के साथ खाएं।

इलायची के नियमित सेवन से रक्त संचार दुरुस्त होता है।

अपच होने पर इलायची, काली मिर्च को घी में मिलाकर लें, खाना आसानी से पचेगा।

इलायची आवाज को भी सुरीला बनाती है, नियमित इलायची खाने से आवाज सुरीली होती है।

हिचकी आने पर इलायची खाएं, इससे हिचकी आना बंद हो जायेगा।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम