परिचय


टांसिल की सूजन गले में होनेवाला प्रमुख रोग है. जिन लोगों को यह रोग होता है, उन्हें यह बार-बार सताता भी है. कफ एवं रक्त में खराबी के कारण तालू की जड़, जिसे ‘गलतुंडिका’ भी कहते हैं, उसमें अत्यधिक सूजन आ जाती है. इसका मुख्य कारण सर्दी लगना है. सर्दी के कारण गला अधिक प्रभावित होता है. यह शरीर में होनेवाले उपद्रव उपसर्गो से हमारी रक्षा करता है.

यही कारण है कि संक्रमण के कारण इनमें सूजन हो जाती है और संक्रमण आगे बढ़ नहीं पाता है. इन दोनों ग्रंथियों में होनेवाली सूजन को टांसिलाइटिस कहते हैं. इसे आयुर्वेद चिकित्सा शास्त्र में गलतुंडिका शोथ कहा जाता है.


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम