Untitled Document

विरोध में उठी आवाज


कुछ वर्ष पहले की बात है. इमराना नाम की एक महिला के साथ उसी के पिता समान ससुर ने बलात्कार किया, लेकिन ससुर को सजा देना तो दूर, काजी ने उस के खिलाफ फतवा देते हुए यह कहा था कि इमराना अब अपने पति नूर इलाही की पत्नी नहीं बल्कि अपने ससुर अली मुहम्मद की पत्नी है. इसलिए अब वह अपने शौहर की बीवी नहीं बल्कि उस की मां के रूप में रह सकती है.

और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम