Untitled Document

नारियल में बंद प्रेतात्मा


बाबा ने ग्राहक को एक सूखा नारियल देकर कहा कि इसे रात को तकिए के पास रखकर सो जाना और कल ले आना। तुम्हें सताने वाली प्रेतात्मा इसमें बंद हो जाएगी। फिर मंत्र पढ़कर नारियल दे दिया। अगले दिन ग्राहक नारियल लेकर आया। शिष्यों के सामने नारियल रखकर बाबा ने कहा- 'अब इसमें बंद प्रेतात्मा को मैं जलाकर नष्ट करूँगा।'

उसने मंत्र पढ़ने का नाटक करके नारियल पर पानी के छींटे मारना शुरू किया तो नारियल से धुआँ उठने लगा जिसे देख लोग समझे कि प्रेतात्मा जलकर भाग रही है। बाबा ने नारियल की जटाओं में सोडियम के टुकड़े पहले से ही फँसाकर लगा दिए थे। सोडियम पर पानी डालने से आग जल उठती है। बस उसी को बाबा ने प्रेतात्मा भगाना कहा और ग्राहक से रुपए ठगे।


और पढ़ें

2017 मिर्ची फैक्ट्स.कॉम